ऊंट को कैसे बांटे

- Advertisement -

More articles

- Advertisement -

ऊंट को कैसे बांटे:- बगदाद शहर में एक काजी रहते थे। वह अपनी न्याय प्रियता के लिए बहुत लोकप्रिय थे। एक दिन तीन भाई अपनी एक समस्या लेकर उनके पास आए।

बड़ा भाई बोला,” हमारे पिता हज करने गए हैं। जाने से पहले वह कह गए थे कि उनकी जायदाद का आधा हिस्सा बड़े लड़के को मिलेगा, एक चौथाई को तथा छटा हिस्सा सबसे छोटे को।”
मंझला बोला,” हमने उनके अनुसार सारी जायदाद का बंटवारा कर लिया। परंतु समस्या टॉप के बंटवारे को लेकर है।”

ऊंट को कैसे बांटे

ऊंट को कैसे बांटे

छोटा बोला,” पिताजी के पास ग्यारह ऊंट हैं। अब एक ऊंट को काटकर हम आपस में कैसे बांटे?”
उनकी समस्या सुनकर काजी कुछ देर तक सोच में पड़ गया। फिर उनके साथ उनके घर पहुंचे। वहां पहुंचकर व उनके ऊंटों के बाड़े में पहुंचे। उन्होंने तीनों भाइयों से कहा,” यदि मैं अपना वोट भी तुम्हारे होठों में शामिल कर दूं तो तुम्हें कोई एतराज तो नहीं।” तीनो भाई खुशी-खुशी उनकी बात मान गए। अब ऊंटों की संख्या बारह हो गई थी।

अतः काजी ने छह ऊंट अर्थात आधा हिस्सा बड़े भाई को दे दिया। एक चौथाई अर्थात तीन ऊंट मंझले को तथा छटा हिस्सा अर्थात दो ऊंट छोटे भाई को दे दिए तथा अपना एक ऊंट वापस ले लिया। तीनो भाई का जीके इस बंटवारे से बहुत प्रभावित हुए।

अकल बड़ी या भैंस।

- Advertisement -

MOST POPULAR ARTICLES

TRENDING NOW

Latest

- Advertisement -