मूर्ख मारिया

- Advertisement -

More articles

- Advertisement -

मूर्ख मारिया:- मारिया एक मूर्ख लड़की थी। वह बहुत लापरवाह थी इसी कारण वह अपनी वस्तुओं का ठीक से ध्यान नहीं रखती थी। जब तब उसकी कोई न कोई वस्तु खो जाती थी। जिसकी वजह से उसकी कोई चीज उचित स्थान पर नहीं मिलती थी। इसी कारण उसके पिता हमेशा उससे वस्तुओं को संभाल कर रखने को कहते रहते थे परंतु उसके कानों पर जूं तक नहीं रेंगती थी।

मूर्ख मारिया

एक दिन उसके पिता दफ्तर आते हुए मारिया के लिए एक बहुत ही सुंदर गुड़िया लाए। मारिया को गुड़िया देते हुए उन्होंने यह भी कहा कि यह गुड़िया खोली नहीं चाहिए। उस दिन मारिया पूरे दिन उस गुड़िया से खेलती रही। उसके बाद उसने गुड़िया अलमारी में रख दी। कुछ समय पश्चात मारिया के पिता आए और उन्होंने उसे बाजार चलने के लिए कहा। मारिया तैयार होने के लिए अंदर चली गई।

उसने सोचा,” कहीं मेरी गुड़िया फिर ना खो जाए, अतः इसका कोई उपाय करना चाहिए।” यह सोचकर उसने गुड़िया को उठाया और अपनी पीठ पर लाद कर घर से बाहर आ गई। जब पिता ने उसे गुड़िया को पीठ पर बांधे देखा तो उससे इसका कारण पूछा तो उसने सारी बात बता दी। इसकी बात सुनकर पिता ने अपना सिर पीट लिया।

अतः वैसे भी सच ही है “मूर्खों को समझाना भैंस के आगे बीन बजाने के समान है।”

- Advertisement -

MOST POPULAR ARTICLES

TRENDING NOW

Latest

- Advertisement -